नियोजित शिक्षकों की समान काम समान वेतन की माँग

313
0
SHARE

सुपौल – बिहार के 4 लाख नियोजित शिक्षकों की एक ही माँग समान काम समान वेतन की लड़ाई अंतिम चरण में है। जिस लड़ाई के लिये शिक्षकों ने कमर कस ली है, दरसअल बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के बैनर तले प्रदेश उपाध्यक्ष पंकज कुमार सिंह के नेतृत्व में सुपौल जिला मुख्यालय स्थित पब्लिक लाइब्रेरी एंड क्लब में दर्जनों संघीय पदाधिकारियो की बैठक कर आगामी 31 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट में दायर बिहार सरकार के SLP को खारिज करवाने की रणनीति पर चर्चाएं हुये।

वहीं प्रदेश उपाध्यक्ष पंकज कुमार सिंह ने बतलाया कि बिहार सरकार नियोजित शिक्षकों को परेशान करने की तमाम कोशिशें कर रही है, लेकिन सुप्रीम कोर्ट में 31 जुलाई को होने वाली अंतिम सुनवाई में सरकार का SLP खारिज होगा, क्योंकि सरकार की दलील में कोई दम नही है, हमलोगों की माँग को उच्च न्यायालय ने सही माना था औऱ सरकार को समान काम समान वेतन देने का निर्देश दिया था। जिस निर्देश के विरुद्ध बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में SLP दायर किया है। जहाँ बिहार के 4 लाख नियोजित शिक्षकों की हक की लड़ाई पुरजोर तरीके से बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के द्वारा लड़ी जा रही है, सुप्रीम कोर्ट में सरकार के विरुद्ध सभी वरीय एवं विद्वान अधिवक्ता एकजुट होकर हमारी माँग के समर्थन में खड़े होंगे और निर्णायक लड़ाई में हमलोगों की जीत होगी। बैठक मे श्रवण चौधरी, रोशन सिंह, राकेश रंजन, नीरज कुमार सिंह, सुनील कुमार यादव, मिथिलेश कुमार, अजित सिंह, हतेशमूल हक, परमानन्द प्रभाकर, मनोज मेहता सहित दर्जनों शिक्षक मौजूद थे।