सुशांत सिंह राजपूत केस को लेकर पक्ष और विपक्ष का एक सुर

320
0
SHARE

Patna: बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह ने पटना के राजीवनगर थाना में बेटे की आत्महत्या मामले में एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है। उन्होंने एक्ट्रेस पर अपने बेटे सुशांत को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया है।

सुशांत सिंह केस मामले में RJD नेता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि  बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को महाराष्ट्र सरकार से और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बात करना चाहिए और न्याय दिलाना चाहिए। तिवारी ने कहा महाराष्ट्र सरकार सीबीआई जांच से क्यों भाग रही है, ऐसा प्रतीत होता है कि दोषियों को बचाने का कार्य कर रही है। महाराष्ट्र सरकार, देश और राज्य के जनता को देखते हुए बिहार के मुख्यमंत्री को इस मामले में अविलंब सीबीआई जांच के लिए केंद्र और महाराष्ट्र सरकार पर दबाव बनाने की जरूरत है। नेता प्रतिपक्ष बार बार सीबीआई जांच की मांग उठाई है और न्याय मिलने की बात कही है।

वहीं, बिहार बीजेपी प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा कि, मुंबई पुलिस ने यूडी केस दर्ज कर 40 दिनों से गोल-गोल घुमाया है. बिहार पुलिस के आपराधिक धाराओं के साथ जांच से उम्मीद बंधी है. एक तरफ महाराष्ट्र सरकार सीबीआई जांच से इंकार करती है तो वहीं, शक्ति सिंह गोहिल सही जांच और न्याय के लिए आश्वस्त कर रहे हैं. गोहिल बिहार कांग्रेस के प्रभारी है, बिहार की जनता के प्रभारी न बने.बीजेपी नेता ने कहा कि, बिहार की एक फीसदी जनता को इस मामले में मुंबई पुलिस पर भरोसा नहीं है. क्या कांग्रेस, एनसीपी, शिवसेना बॉलीवुड माफियाओं से रिश्ते निभा रही है. इस पूरे मामले में कुछ लोग आईवॉश करके मिसलीड करना चाहते हैं

कांग्रेस नेता राजेश राठौड़ ने कहा सुशांत सिंह के संदेहास्पद मौत की सीबीआई जांच हम इसलिए नहीं चाहते कि क्योंकि बॉलीवुड में जिनके कोई गॉड फादर नहीं है। उसकी स्थिति सुशांत जैसी नहीं हो, अगर सीबीआई जांच नहीं हुई तो उन माफिया तक हाथ नहीं जा सकता जिनके इशारे पर बॉलीवुड नाचता है। हम बिहार सरकार से और बिहार से आने वाले जितने भी केंद्रीय मंत्री है उनसे भी मांग करते हैं कि आप भारत सरकार से सीबीआई जांच के लिए पत्र लिखे। अगर सीबीआई जांच नहीं हुई तो आने वाले दिनों में सुशांत जैसे हजारों कलाकारों के साथ यहीं व्यवहार होगा।