तेजस्वी का CM नीतीश पर तंज, कहा- शराब माफियाओं के कहने पर किया SP का तबादला

230
0
SHARE

PATNA: बिहार में शराबबंदी पर पाबंदी लगे हुए तकरीबन पांच साल से ऊपर का वक़्त बीत चुका है। यह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का संकल्प था कि पूरे प्रदेश को शराब मुक्त किया जाए। इसे लेकर सीएम ने जोरशोर से अभियान भी चलाया।  मानव श्रृंखला  बना कर बिहारवासियों को संदेश दिया गया। बावजूद इसके पूरे राज्य में शराब का पूरा धंधा बखूबी चल रहा है। बिहार में लागू शराबबंदी कानून की पोल खोलने वाले एसपी मद्य निषेध राकेश कुमार सिन्हा के तबादले के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश हमला बोला है। तेजस्वी ने कहा कि शराब माफियाओं के कहने पर SP का तबादला सीएम नीतीश कुमार ने करवा दिया है।

तेजस्वी ने ट्वीट कर कही ये बात

तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि पटना के एसपी मद्यनिषेध ने सभी जिलों के एसएसपी और एसपी को पत्र लिखा कि उत्पाद और पुलिस विभाग के अधिकारी सत्ताधारी जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर शराब बिक्री करवा रहे है। CM आवास में पहुंच रखने वाले शराब माफ़िया ने CM से अब उस SP का तबादला करवा दिया। यही है नीतीश कुमार का असली चेहरा।

एसपी मद्यनिषेध  ने लिखा था पत्र

राकेश कुमार सिन्हा ने राज्य के सभी जिलों के एसएसपी और एसपी को पत्र लिखा था। इस पत्र में उन्होंने उत्पाद विभाग से जुड़े अधिकारियों और उनके परिजनों की संपत्ति की जांच कराने को कहा था। साथ ही साथ शराब माफिया के साथ जनप्रतिनिधियों की सांठगांठ को लेकर भी उन्होंने सवाल खड़े किए थे। उन्होंने यह भी कहा था कि रिश्तेदारों की चल अचल संपत्ति की जांच करने के साथ परिवार के सदस्यों के मोबाइल लोकेशन की भी जांच की जाए। ऐसा माना जा रहा है कि शराबबंदी को लेकर मद्य निषेध ने जनता से मिली लोगों की शिकायत के बाद ये पत्र लिखा है।

अधिकारियों के खिलाफ जांच पर मुख्यालय ने लगाई रोक

एसपी मद्यनिषेध राकेश कुमार सिन्हा के लिखे गए पत्र को
बिहार डीजीपी एसके सिंघल ने रद्द कर दिया है। संज्ञान लेने के बजाय डीजीपी ने 19 जनवरी को इसको लेकर अधिसूचना जारी कर दिया था। जिसमें यह बताया गया था कि गुप्त परिवाद विषय में प्राप्त पत्र को निरस्त किया जाता है। बता दें कि मंगलवार को 7 आईपीएस का तबादला किया गया था, जिसमे एसपी राकेश कुमार सिन्हा का भी नाम शामिल था। बिहार सरकार के जारी अधिसूचना के अनुसार राकेश कुमार सिन्हा को मद्य निषेध से हटाकर कर उन्हें पटना स्पेशल ब्रांच का एसपी बना दिया गया।