मानव श्रृंखला से शराबबंदी के पक्ष में जबर्दस्त संदेश लोगों के बीच जायेगा: मुख्यमंत्री

891
0
SHARE

पटना: मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने अपने निश्चय यात्रा के आठवें चरण के अंतिम दिन आज सबसे पहले भागलपुर जिला के नाथनगर प्रखण्ड अन्तर्गत गोसाईदासपुर पंचायत के ग्राम हरिदासपुर पहुंचे और खुले में शौच से मुक्त, हर घर नल का जल, पक्की गली -नाली, हर घर बिजली एवं मल्टी विलेज वाटर स्कीम का निरीक्षण किया। हरिदासपुर पहुंचने पर मुख्यमंत्री के स्वागत के लिये पंचायत के लोग तीन किलोमीटर से भी ज्यादा लंबे सड़क के दोनों ओर कतारबद्ध होकर खड़े थे और पुष्प की वर्षा कर रहे थे। सबसे पहले मुख्यमंत्री गली-नाली पक्कीकरण योजना का उद्घाटन किया और बनाये गये पक्की गली एवं नाली का निरीक्षण किया। इसके पश्चात मुख्यमंत्री ने राजीव गांधी सेवा केन्द्र (मनरेगा) भवन का उद्घाटन किया। इसके पश्चात मुख्यमंत्री ने हर घर शौचालय योजनान्तर्गत बनाये गये विभिन्न शौचालयों का निरीक्षण किया। उन्होंने नल का जल योजनान्तर्गत नलों को खोलकर पानी की जांच की। उन्होंने स्वच्छ पेयजल निश्चय योजनान्तर्गत सौर ऊर्जा चालित आर्सेनिक निष्कासन संयंत्र आधारित मिनी ग्रामीण जलापूर्ति योजना का भी निरीक्षण किया। उन्होंने मल्टी विलेज वाटर स्कीम का निरीक्षण और निर्माणाधीन संयंत्र का अवलोकन किया तथा कार्य में गति लाने का भी निर्देश दिया। इस येाजना के पूरा होने से 24 गांवों के 113 टोलो में पानी पहुंचाने की व्यवस्था है। इसके पश्चात मुख्यमंत्री ने इस पंचायत के खुले में शौच से मुक्त होने पर गौरव गाथा से संबंधित चित्र प्रदर्शनी की झलकियां देखी।

इसके पश्चात मुख्यमंत्री ने उपस्थित जीविका की दीदीयों एवं बड़ी संख्या में आये आमजनों को संबोधित करते हुये कहा कि निश्चय यात्रा के सिलसिले में आज यहां आने का अवसर मिला है, इसे मैं अपना सौभाग्य समझता हूं। उन्होंने कहा कि सात निश्चय पर सरकार अमल कर रही है। उन्होंने कहा कि सात निश्चय में से एक निश्चय महिलाओं के लिये सरकारी सेवाओं में 35 प्रतिशत आरक्षण देने का था। इस निश्चय को सरकार बनने के दो महीने के अंदर लागू कर दिया गया। उन्होंने कहा कि युवाओं के लिये स्टुडेंट क्रेडिट कार्ड, रोजगार तलाश रहे युवाओं के लिये स्वयं सहायता भत्ता, युवाओं के क्षमतावर्द्धन के लिये कुशल युवा कार्यक्रम लागू किया है और यह सब काम शुरू हो चुका है। उन्होंने कहा कि युवाओं को हर प्रकार की सुविधा दी जा रही है। इसके अलावा चार निश्चय हर घर नल का जल, हर घर शौचालय, पक्की गली-नाली, हर घर बिजली कनेक्शन योजना पर अमल शुरू कर दिया गया है। भागलपुर जिला में इसी सिलसिले में हरिदासपुर में इन योजनाओं को देखने आये हैं, सब काम हो रहा है। उन्होंने कहा कि उनका लक्ष्य खुले में बिहार को शौच मुक्त करना है। खुले में शौच मुक्त होने से नब्बे प्रतिशत बीमारियों से छुटकारा मिल जाता है। अगर पीने को शुद्ध पानी घर में हो जाय और खुले में शौच मुक्त हो जाय तो बीमारियां कम हो जायेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां ग्राम पंचायत सहजादपुर के लोग भी आये हैं। इनका अपना दर्द, इनका कहना है कि यह पंचायत गंगा के दक्षिण में है, जो नारायणपुर प्रखण्ड में पड़ता है। उनका कहना है कि यह क्षेत्र नाथनगर से जुड़ जायेगा तो सहुलियत होगी। उन्होंने कहा कि हमने आयुक्त एवं जिलाधिकारी से कहा है कि इनके दर्द को समझकर राज्य सरकार को प्रतिवेदन दें, इनकी मांग जायज है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार जबर्दस्त बाढ़ आयी, यह पूरा का पूरा पंचायत बाढ़ प्रभावित था। जहां पर हमलोग खड़े हैं, यहां तीन से चार फीट पानी था। मैंने राहत शिविरों का निरीक्षण किया था। उन्होंने कहा कि गंगा नदी छिछली हो रही है। जल संग्रहण की क्षमता घट रही है। गाद जमता जा रहा है, इसका मुख्य कारण फरक्का बांध है। उन्होंने कहा कि फरक्का बांध को जब तक नहीं हटाया जायेगा, तब तक समस्या का समाधान नहीं होगा। सामाजिक स्तर पर भी इसका अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को वे लगातार उठाते रहे हैं। उन्होंने कहा कि गाद नीति बननी चाहिये ताकि नदी की गहराई बरकरार रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि एकजुट होकर अपनी आवाज बुलंद करेंगे, यह न्याय की बात है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे चार निश्चय में से तीन निश्चय चार साल के अंदर पूरा हो जायेगा। अगले साल के अंत तक हर घर में बिजली का कनेक्शन दे दिया जायेगा। धैर्य के साथ रहिये और आपका समर्थन चाहिये। उन्होंने कहा कि यह इलाका आर्सेनिक प्रभावित है। कुछ इलाका फ्लोराइडयुक्त भी है। यहां बड़े परियेाजना पर कार्य हो रहा है और गुणवत्तायुक्त पानी उपलब्ध कराने की दिशा में कार्रवाई हो रही है। तत्काल मिनी पाइप जलापूर्ति योजनान्तर्गत आर्सेनिक मुक्त स्वच्छ पानी उपलब्ध कराया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आपकी मांग पर शराबबंदी लागू की गयी थी। शराबबंदी से बड़ा सामाजिक परिवर्तन आया है। कल शनिवार को मानव श्रृंखला बनाकर खड़ा होना है। हमें अपनी एकजुटता प्रदर्षित करनी है। यहां के लोग तो आज से ही तैयार हैं। साढ़े तीन किलोमीटर लंबी दूरी में सड़क के दोनों तरफ लोग कतारबद्ध होकर खड़े थे। अगर वे हाथ पकड़कर खड़े होंगे तो वह दूरी लगभग पन्द्रह किलोमीटर हो जायेगी। उन्होंने कहा कि आप सजग रहें, कानून अपना काम करेगा। आप सजग रहियेगा तो कानून की ताकत और बढ़ेगी। उन्होंने लोगों से एक बार फिर अपील की कि मानव श्रृंखला का अंग बनें, एक जबर्दस्त संदेश जायेगा। जब स्त्री- पुरूष, युवा-बुजुर्ग सब शराबबंदी के पक्ष में श्रृंखलाबद्ध होकर खड़े होंगे, तब दूसरे राज्यों के लोग भी शराबबंदी एवं नशामुक्ति की मांग करेंगे और तब एक नशामुक्त समाज बनेगा।

इस अवसर पर जल संसाधन तथा योजना एवं विकास मंत्री सह भागलपुर जिला के प्रभारी मंत्री श्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, सांसद श्रीमती कहकशां परवीन, विधायक श्री अजय कुमार मण्डल, पंचायत समिति सदस्य श्री अशोक कुमार राकेश, प्रखण्ड प्रमुख श्रीमती संगीता देवी, मुखिया श्रीमती पिंकी देवी, हरिदासपुर पंचायत के वार्ड नंबर 11 की सदस्या श्रीमती सपना देवी, विकास आयुक्त श्री शिशिर सिन्हा, अपर पुलिस महानिदेशक श्री सुनील कुमार, प्रधान सचिव लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण श्रीमती अंशुली आर्या, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री चंचल कुमार, सचिव ग्रामीण विकास श्री अरविंद चैधरी, मुख्यमंत्री के सचिव श्री मनीष कुमार वर्मा, आयुक्त भागलपुर प्रमण्डल श्री अजय कुमार चौधरी, जीविका के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी श्री बाला मुरूगन डी0, भागलपुर के जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक सहित अन्य वरीय पदाधिकारी एवं स्थानीय जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।