सरकार के इशारे पर मुझे फंसाने की हो रही है साजिश- सीके अनिल

404
0
SHARE

आलोक पाठक/ पटना – बिहार एसएससी पेपर लीक कांड का मामला दिन प्रतिदिन और पेचीदा होता जा रहा है। इस पेपर लिक कांड का मामला इतना चर्चित हो गया है कि चारों तरफ अब इसकी सीबीआई जांच की मांग उठने लगी है।

Read More Patna News in Hindi

इसकी जांच के लिए बनी विशेष टीम एसआईटी पर भी सवाल उठ रहे हैं। कहा जा रहा है कि एसआईटी की टीम दवाब में काम कर रही है जबकि एसआईटी अध्यक्ष एसएसपी मनु महराज इस बात को कितने बार खंडन कर चुके हैं कि एसआईटी की टीम किसी के दवाब में काम नहीं कर रही है। लेकिन सवाल उठता है कि आखिर क्यों सरकार में ही कार्यरत बड़े से बड़े अधिकारी इसकी सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं।

Read More Bihar News in Hindi

यहां तक खबर मिली की एसआईटी की टीम से बाहर करने को लेकर एएसपी राकेश दूबे ने सरकार से आवेदन देकर अपील तक भी की लेकिन उनकी एक न सुनी गई। अब इस केस में एक समय के नामी और आज के सीनीयर आईएएस सीके ने भी आरोप लगाये हैं कि सरकार उन्हे फंसाने की साजिश रच रही है जबकि एसआईटी इस केस में उन्हे गुनहगार मान रही है। सीके अनिल का कहना है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनके प्रधान सचिव चंचल कुमार के इशारे पर ही उन्हे फंसाया जा रहा है।

Read More Bihar News

सीके अनिल ने यह आरोप गुरूवार को एक पत्र जारी कर लगाया है। उन्होने पूरे मामले में राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री कार्यालय तथा केंद्रीय राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह को पत्र लिख कर सीबीआई जांच की मांग की है। सीके अनिल ने यह पत्र मुंबई से जारी किया है। पत्र में उन्होने यह भी लिखा है कि स्पाइनल इंजरी की वजह से मैं मेडिकल लीव पर हूं। फरार होने की बात बेबुनियाद है। मैं अधिकृत अवकाश पर हूं। मुझे 2016 में व्हिसिल व्लोअर बनने की सजा मिल रही है।