बिहार में महागठबंधन के सदस्यों ने धरना देकर दिखाया एकजुटता

992
0
SHARE

पटना: बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के नेतृत्व में महागठबंधन की तीनों दल राजद, जदयू और कांग्रेस के सभी सदस्यों ने शुक्रवार को विधानमंडल परिसर में जननायक कर्पूरी ठाकुर की प्रतिमा के सामने धरना दिया। सदस्यों ने केंद्र सरकार पर कालाधन वापस लाने के नाम पर देश को धोखा देने और नोटबंदी के बहाने देशवासियों को परेशान करने का आरोप लगाया।

सुबह साढ़े नौ बजे से महागठबंधन विधानमंडल दल के सदस्य जननायक प्रतिमा स्थल पर जमा होने लगे थे। लगभग सवा घंटे तक चले धरना में विधानसभा और विधान परिषद के लगभग सौ सदस्यों ने हिस्सा लिया। महागठबंधन के इस धरना को लोग एकजुटता के प्रदर्शन के रूप में देखा जा रहा है।

धरना स्थल पर राबड़ी देवी ने कहा कि नोटबंदी के बाद किसान खेती नहीं कर पा रहे हैं, मजदूर परेशान हैं। लोग अपने ही पैसों के लिए दिनभर भटक रहे हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वादों की याद दिलाते हुए कहा कि लोगों के बैंक खाते में 15-15 लाख रुपये कब डाले जाएंगे, यह उन्हें बताना चाहिए।

धरना में कांग्रेस विधायक दल के नेता सदानंद सिंह, विधानसभा में जदयू के उपनेता श्याम रजक, जदयू के एमएलसी संजय सिंह, नीरज कुमार, संजय गांधी, सतीश कुमार, कांग्रेस के एमएलए दिलीप चौधरी, राजद के एमएलए भाई वीरेंद्र, मुद्रिका सिंह यादव, भोला यादव और जदयू की एमएलए पूनम यादव समेत अनेक एमएलए और एमएलसी शामिल हुए।