महज पांच घंटे में ही पुलिस ने अपहृत व्यवसायी के सात वर्षीय पुत्र को किया बरामद

407
1
SHARE

औरंगाबाद:  सच कहा गया है कि यदि इरादे बुलंद हो तो आँधियों में भी चिराग जलते हैं। शायद ऐसा ही कुछ दिखा आज औरंगाबाद में जहाँ लिबर्टी शो रूम के मालिक पिंटू सिंह के सात वर्षीय पुत्र आर्यन के अपहरण के बाद उसके सकुशल बरामदगी को लेकर की गयी पुलिस की चौकसी और उनके सूचना तंत्र का दिखा असर कि अपहरणकर्ताओं को अपहृत आर्यन को छोड़कर भागने को मजबूर होना पड़ा और पुलिस ने उसे अम्बा चौक से सकुशल बरामद कर लिया।

WhatsApp Image 2017-10-15 at 11.39.13 AM (1)

इस पूरे खोजबीन अभियान में एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष ई० विवेक कुमार सिंह एवं जीतू, छोटू, रवि, सोनू की भूमिका भी काफी सराहनीय रही। क्षत्रिय नगर से आर्यन के गायब होने के बाद जैसे ही इसकी सूचना पुलिस तक पहुंची वैसे ही अधिकारियों ने एसपी डॉ सत्य प्रकाश को इसकी जानकारी दी। एसपी के कुशल निर्देशन एवं अभेद रणनीति के तहत थानाध्यक्ष राजेश कुमार वर्णवाल ने अपनी टीम के साथ मोर्चा संभाला और कई ठिकानों पर न सिर्फ छापेमारी की बल्कि सभी थानों को अलर्ट कर दिया और बच्चे का हुलिया बताते हुए जिले के प्रमुख सड़कों पर गस्ती तेज कर दी और अम्बा, रफीगंज, मदनपुर, दाउदनगर, बारुन सहित कई प्रमुख मार्गों पर काफी चौकसी बरती जाने लगी।

WhatsApp Image 2017-10-15 at 11.39.11 AM

पुलिस की दबिश और चौतरफा सामाजिक दबाव का असर यह हुआ कि अपहरणकर्ताओं की एक न चली और वे अम्बा चौक पर बच्चे को छोड़कर फरार हो गए। इधर आर्यन की सकुशल बरामदगी पर शहरवासियों ने पुलिस के इस कार्य की सराहना की और टीम के सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त किया कि महज पांच घंटे के अन्दर पुलिस ने अपहरणकर्ताओं के चंगुल से आर्यन को बरामद कर लिया। आर्यन के सकुशल बरामदगी के बाद पुलिस अभी भी चैन से नहीं बैठी है और अपहरणकर्ताओं को उनके अंजाम तक पहुँचाने के लिए छापेमारी शुरू कर दी है।

क्या था मामला

औरंगाबाद: नगर थाना क्षेत्र के महाराजगंज रोड स्थित लिबर्टी शो रूम के मालिक पिंटू सिंह का सात वर्षीय पुत्र आर्यन उर्फ टूटू खेलते-खेलते अचानक गायब हो गया और काफी खोजबीन के बाद जब उसका कहीं कोई पता नहीं चला तो परिजनों ने नगर थाना में उसके गुमशुदगी की एक रिपोर्ट दर्ज करायी है.

बताया जाता है कि आर्यन बाईपास के पास जगदेव नगर स्थित अपने घर के सामने बच्चों के साथ खेल रहा था. परिजनों ने उसे शाम साढ़े पांच बजे तक खेलते हुए देखा था परन्तु उसके बाद से उसे किसी ने नहीं देखा. परिजनों ने आस-पास के बच्चों से पूछताछ की मगर सभी ने उसके बारे में अनभिज्ञता जाहिर की.

परेशान होकर आर्यन के चाचा दीपक सिंह ने थाने में गुमशुदगी का आवेदन दिया है और खोजने की गुहार लगाई है. आर्यन शहर के ही संत मेरी स्कूल के नर्सरी कक्षा का छात्र है. इस सम्बन्ध में थानाध्यक्ष राजेश कुमार वर्णवाल ने बताया कि परिजनों के द्वारा जो रिपोर्ट दर्ज कराई गई है उसमें बताया गया है कि आर्यन ऑरेंज कलर का शर्ट पहना हुआ है और साढ़े पांच बजे से ही घर के पास से खेलने के क्रम में लापता हो गया है.

प्राप्त आवेदन के आधार पर लापता हुए बच्चे की पहचान बताते हुए सभी थाने को सूचना दे दी गयी है और शहर एवं आस-पास के क्षेत्रों में गस्ती बढ़ा दी गयी है तथा मोहल्ले में पूछताछ की जा रही है. इधर बच्चे की सकुशल बरामदगी को लेकर मोहल्ले के लोगों ने बाईपास के समीप एनएच 2 को जाम कर दिया है. बच्चे की गुमशुदगी के बाद से घर में चीख-पुकार मची हुई है.