देश का पहला गांव जहां बनता है एसी जैकेट

2204
0
SHARE

नवादा समाचार- (Nawada News) सूबे के नवादा जिला का खनवां गांव पूरे देश में अपनी एक अलग पहचान बनाने में कामयाब रहा है। यह देश का पहला गांव है जहां सूत से एसी जैकेट बनता है। यह गांव कपड़ा उद्योग के क्षेत्र में एक अलग जगह बनाने की ओर कदम बढ़ा दिया है। अब यहां सामान्य कपड़े ही नहीं, बल्कि एसी (वातानुकूलित) जैकेट भी तैयार किये जा रहे हैं।

Read More Nawada News

इस तरह खनवां देश का पहला गांव बन गया है, जहां ऐसी जैकेट बनाया जा रहा है। बीते सोमवार को नवादा के सांसद सह केंद्रीय लघु, मध्यम व कुटीर उद्योग राज्यमंत्री गिरिराज सिंह ने खनवां स्थित भारतीय हरित खादी ग्रामोदय संस्थान के प्रांगण में यहां की महिलाओं द्वारा सोलर चरखे से तैयार सूत से बने एसी जैकेट को लांच किया। इस जैकेट में अत्याधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल किया गया है।

आधुनिक तकनीक से तैयार जैकेट में क्लाइमेट गियर (रिमोट) है। इसमें नीला व लाल बटन है, जिससे 20 से 25 डिग्री सेल्सियस तक तापमान बढ़ाया व घटाया जा सकता है। रिमोट दबाने के दो मिनट बाद से ही जैकेट शरीर के तापमान को नियंत्रित कर लेगा। इसमें छोटे-छोटे पंखे लगे हुए हैं, जिनसे गरम व ठंडी हवाएं निकलेंगी। इस जैकेट में स्वदेशी तकनीक का इस्तेमाल किया गया है। इसमें लगे क्लाइमेट गियर का ईजाद एमआइटी के छात्र क्रांति ने किया है लेकिन कीमत पर सस्पेंस बरकरार है। इस जैकेट की कीमत क्या होगी, इस सवाल पर सस्पेंस बना हुआ है। गिरिराज सिंह ने कहा है कि एक जैकेट को बनाने में 20 से 25 हजार रुपये खर्च हो रहे हैं, लेकिन इसकी कीमत नीति आयोग तय करेगा। हालांकि, यह आम लोगों तक कब पहुंचेगा, किसी ने बताने से इंकार कर दिया।