एक पिता ने अपने ही ढाई साल के मासूम बेटे की गला काटकर क्यों की हत्या ?

645
0
SHARE

वह मासूम बच्चा जिसने अभी तोतली भाषा में बोलना ही सिखा था और जिसके चहलकदमी से आस-पड़ोस के लोग भी खुश रहते थे उस मासूम की हत्या उसके अपने ही पिता ने गलारेत कर दी। जी हां यह घटना सुनकर आपको अजीब जरूर लगा होगा लेकिन सच्चाई यही है। इस रोंगटेखड़ी कर देने वाली घटना से सब लोग हैरत में है।

Read More Purnia News in Hindi

बिहार के पूर्णिया में इस हृदय विदारक और विश्वास नहीं होने वाली घटना को एक पिता ने अंजाम दिया है। वह भी सिर्फ इसलिए कि इस मामले में दूसरे को फंसाना था। इस हृदय विदारक घटना से जहां पूरा जिला सन्न हो गया, वहीं परिजन और गांववालों को अब भी इस घटना पर विश्वास नहीं हो रहा है। जिले के बननखी थाना के धोकरधारा गांव के कृत नारायण मंडल ने 5 अप्रैल की शाम में अपने ही ढाई साल के दुधमुंहे बच्चे को ‘दबिया’ (हसुआ) से काटकर मार डाला।

Read More Bihar News in Hindi

इस घटना की सूचना मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। घटना के बाद से गांव के लोग देखने को जुट गए। आरोपी पिता कृतनारायण का कहना है कि उसके ऊपर ‘काल’ सवार हो गया था। इस कारण उसने नशे की हालत में बेटे की दबिया से काटकर हत्या कर दी। जिस समय इस घटना को अंजाम दिया गया था, उस समय कृत नारायण गांजा के नशे में मदहोश था। घर में सिर्फ बच्चा था, जबकि मां और दोनों बहने घास काटने खेत चली गई थी। इकलौते बेटे की हत्या की खबर सुनते ही मां का रो-रोकर बुरा हाल है। मां बार-बार बेहोश हो जा रही है। दोनों बहने भी इस घटना से सदमे में है। गांववालों को तो विश्वास ही नहीं हो रहा है कि बाबाजी इस तरह की घिनौनी करतूत कर सकते हैं। दरअसल इस सारे घटना के पीछे जमीन का मामला है। कृत नारायण उर्फ बाबाजी ने लाल कार्ड की जमीन खरीदी थी, जिसपर गांव के कुछ महादलित अपना अधिकार जता रहे हैं। बताया जा रहा है कि इसी जमीन के चलते इतनी बड़ी घटना हुई है। परिजनों का कहना है कि पुलिस इस मामले में पूरी तफ्तीश करे और आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा हो।

घटना की सूचना मिलते ही बनमनखी एसडीपीओ के नेतृत्व में पुलिस मौके पर पहुंच गए। वहां की हालत देखकर पुलिसवाले भी सन्न हो गए। एक छोटी सी झोपड़ी में बच्चा का सर और धर अलग था। पुलिस ने घटनास्थल से आरोपी पिता कृतनारायण को गिरफ्तार कर लिया, जिस दबिया से मासूम का गला काटा गया था, पुलिस ने उस दबिया को भी बरामद कर लिया। बनमनखी एसडीपीओ कुन्दन कुमार ने कहा कि पिता कृतनारायण मंडल ने ही अपने बेटे को काटकर हत्या कर दी। कृत नारायण ने महादलितों को हत्या के आरोप में फंसाने के उद्देश्य से ही इस घिनौनी करतूत को अंजाम दिया।