पुलिस पर इस महिला समूह ने लगाया गंभीर आरोप !

245
0
SHARE

नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस की कार्यशैली के विरोध में ग्रामीण महिलाएं एकजुट
चौकीदार को गिरफ्तार करने और महिलाओं पर से मुकदमा वापस करने को लेकर एकजुट हुआ महिला समूह

IMG-20171011-WA0010

गया – शराब के खिलाफ जब महिलाओं ने उठायी आवाज तो स्थानीय पुलिस ने महिलाओं पर हीं दर्ज कर दी प्राथमिकी। 2013 से शराब के खिलाफ गाँव में उठायी थी आवाज। झूठे मुकदमे के विरोध में इमामगंज थाने के सामने महिलाओं ने दिया अनिश्चितकालीन धरना।

शराब के अवैध कारोबार का विरोध कर रही महिलाओं ने थाने के सामने काला झंडा फहराया व पुलिस पर शराब बिकवाने का आरोप लगा किया प्रदर्शन। समूह की महिलाओं ने आरोप लगाया कि पुलिस के संरक्ष्ण में शराब माफिया अवैध शराब की बिक्री कर रही है जिससे पुलिस और शराब माफिया मोटी रकम कमा रहा है।

जब खुशबू महिला फॉउंडेशन समूह के तहत इसका विरोध किया गया तो समूह की 18 महिलाओं पर शराब माफियाओं के इशारे पर प्राथमिकी दर्ज की गई। जब इससे भी जी नहीं भरा तो जब महिलाओं ने शराब और दहेज व समाज में फैले अन्धविश्वास के खिलाफ रैली निकाली तो स्थानीय चौकीदार रंजीत पासवान के द्वारा महिलाओं के साथ छेड़खानी की गई ताकि यह आंदोलन रुक जाए।

IMG-20171011-WA0008

गौरतलब है कि बिहार में शराबबंदी के पूर्व से ही वर्ष 2013 से महिलाओं का यह समूह शराब के खिलाफ कार्य कर रहा है और गाँव-गाँव में जाकर शराब से होने वाले नुकसान के प्रति महिलाओं में जागरूकता फैलाने का कार्य किया जा रहा है।