बीएचयू के गैरजिम्मेवार कुलपति बर्खास्त हों एवं पुलिसिया गुंडागर्दी पर रोक लगे- छात्र जनता दल (यू.)

236
0
SHARE

पटना – काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में छेड़छाड़ की घटना के विरोध में सड़कों पर उतरे छात्र-छात्राओं पर जिस प्रकार पुलिस ने लाठीचार्ज किया गया, जिसमें कई छात्र-छात्राएं गंभीर रूप से घायल हुए छात्र जनता दल (यू.) ने इस पर कड़ी नाराजगी जतायी है। छात्र जदयू के प्रदेश महासचिव सह् मुख्यालय प्रभारी सुनील कु. गुप्ता ने कहा कि बल कि बजाय बातचीत से इस समस्या का हल निकालना चहिए था, छात्र-छात्राओं की मांग जायज है। छेड़छाड़ की घटना के विरोध में छात्र-छात्राओं ने प्राॅक्टोरियल बोर्ड एवं पुलिस थाना में भी इसकी शिकायत की थी लेकिन कार्रवाई के जगह छात्र-छात्राओं के उपर सवाल खड़ा किया गया। अंतत: छात्र-छात्राओं ने आंदोलन का रास्ता अपनाया लेकिन गैरजिम्मेवार कुलपति एवं पुलिसिया गुंडागर्दी के मेल-मिलाप से जिस प्रकार छात्र-छात्राओं की जमकर पिटाई की गई यह काफी गंभीर है। छात्र जनता दल यू. हर स्थिति में बीएचयू के छात्र-छात्राओं के साथ है। विश्वविधालय एवं प्रशासनिक तंत्र में सुधार किया जाना चाहिए।

साथ ही उन्होंने यू.पी. सरकार एवं कुलपति महोदय से आग्रह किया है कि बीएचयू के छात्राओं के निम्न मांगों को पूरा किया जाए।

छात्राओं की मांग

 छेड़खानी के दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।
 परिसर के सभी अंधेरे रास्तों और चैराहों पर प्रकाश की उचित व्यवस्था की जाए।
 24/7 सुरक्षा गार्डों को परिसर की सुरक्षा के लिए तैनात की जाए और जिम्मेदार बनाया जाए। परिसर में सभी प्रशासनिक कर्मचारियों और अध्यापकों में लैंगिंक संवेदनशीलता लाई जाए।
 महिला छात्रावास के अधिकारीगण तथा अन्य सहायक कर्मचारियों में सामंजस्य को बढ़ावा दिया जाए
 लापरवाह और गैरजिम्मेदार सुरक्षकर्मियों के खिलाफ जल्द कार्रवाई हो।
 यूनिवर्सिटी के सभी प्रवेश द्वार पर चेक पॉइंट बनाए जाए।
 GSCASH (Gender Sensitisation Commitee Against Sexual Harashment)का स्थापना हो।
 यूनिवर्सिटी के अंदर महिला हेल्पलाइन नंबर हो।
 छात्राओं की सुरक्षा को लेकर UGC के गाइडलांइस को फॉलो किया जाए।