Home Beyond Headlines कॉलेज प्रशासन की लापरवाही से 3 लाख छात्र बीएड में आवेदन करने...

कॉलेज प्रशासन की लापरवाही से 3 लाख छात्र बीएड में आवेदन करने से हो सकते हैं वंचित!

87
0

पटना – एक बार फिर से प्रदेश में बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। लेकिन मगध विश्वविद्यालय और बीआर अंबेडकर विश्वविद्यालय के कुल 3 लाख छात्र आवेदन करने से वंचित हो सकते हैं। दरअसल स्नातक तृतीय वर्ष की परीक्षा के 2 माह बाद भी रिजल्ट अभी तक जारी नहीं किए गए हैं। जिसके कारण एएमयू के लगभग दो लाख तथा बी.आर.ए.बी.यू के एक लाख छात्र बीएड प्रवेश परीक्षा के आवेदन नहीं भर सकते हैं।

अध्यक्ष ने राजभवन से लगाई गुहार:

बताया जा रहा है कि सत्र 1 साल लेट है। यदि रिजल्ट 20 फरवरी के पहले जारी नहीं किया गया, तो 1 साल और बर्बाद हो जाएगा। इस मामले पर कॉलेज ऑफ कॉमर्स आर्ट्स एंड साइंस छात्र संघ के अध्यक्ष विकास बक्सर ने कहा कि रिजल्ट जल्द प्रकाशन के लिए राजभवन से गुहार लगाई गई है। रिजल्ट कब जारी होगा। इसकी जानकारी भी विश्वविद्यालय नहीं दे रहा है। राजभवन ने रिजल्ट के लिए जल्द प्रकाशन के लिए संबंधित कॉलेजों के शिक्षकों को शिक्षक बनाने की अनुमति प्रदान कर दी है। वहीं विश्वविद्यालय सूत्रों की माने तो रिजल्ट के लिए युद्ध स्तर पर कार्य किए जा रहे हैं। 10 फरवरी तक रिजल्ट प्रकाशित होने का अनुमान लगाया जा रहा है।

गौरतलब है कि कई ऐसे छात्र हैं, जो मेहनत मजदूरी कर बी.एड में एडमिशन के लिए जीतोड़ दिन रात लगे हुए हैं। ऐसे में कॉलेज प्रशासन की लेटलतीफी उनके भविष्य को अंधकारमय बना सकती है। जरूरत है सरकार जल्द से जल्द हस्तक्षेप कर मामले की हल निकालें।

Share
Previous articleकल से 20 फरवरी तक भरें डीएलएड परीक्षा फॉर्म
Next articleजियो हो बिहार के लाला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here