Home Bihar Government बिहार में अगले 6 महीने में होगा 6 करोड़ लोगों का टीकाकरण...

बिहार में अगले 6 महीने में होगा 6 करोड़ लोगों का टीकाकरण – मुख्यमंत्री

81
0

पटना डेस्क। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि राज्य के सभी लोगों के टीकाकरण के लिए सरकार लगातार प्रयत्नशील हैं। अगले 6 महीने में राज्य के 6 करोड़ लोगों का टीकाकरण (वैक्सीनेशन) कराना है। अब तक 1 करोड़ 30 लोगों को कोरोना से बचाव के लिए टीका (वैक्सीन) दिए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि सभी लोगों को टीका लगाने के लिए प्रेरित करना है। उन्हें बताना होगा कि कोरोना से रक्षा और जीवन की सुरक्षा के लिए टीका जरूरी है। लोग खुद टीका लगवाएं और अपने परिवार को टीका लगवाने के साथ ही पड़ोसी या परिचितों को भी टीका लगवाने के लिए प्रेरित करें।

अफसरों को निर्देश – कोरोना की जांच में और तेजी लाएं

शुक्रवार को 1, अणे मार्ग (मुख्यमंत्री निवास) में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक में आला अफसरों से मुखातिब मुख्यमंत्री ने कोरोना संक्रमण की जांच में और तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की दर में गिरावट आई है। हालांकि जांच की रफ्तार को और तेज करना होगा। लोगों को टीका लगाने के लिए लगातार अभियान चलाते रहें। उन्हें विभिन्न प्रचार माध्यमों से जागरूक करें। मीटिंग में स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने कोरोना संक्रमण और कोविड-19  के वैक्सीनेशन अभियान की मौजूदा स्थिति के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

टेस्टिंग, ट्रीटमेंट व टीकाकरण पर भी फोकस

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए हर जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। टेस्टिंग, ट्रीटमेंट और टीकाकरण कार्य को बेहतर ढ़ंग से करते रहना है। लोग अब घरों से बाहर निकलने लगे हैं, इसलिए ज्यादा से ज्यादा लोगों की कोरोना जांच जरूरी है। कोरोना संक्रमण के प्रति सभी को सचेत रहना है। सबके लिए मास्क का उपयोग आवश्यक है।

माइक्रो लेवल प्लानिंग करें ताकि कोई टीका लगवाने से नहीं छूटे

मुख्यमंत्री ने अफसरों को दिए दिशा-निर्देश में पंचायत से लेकर वार्ड स्तर तक माइक्रो लेवल प्लानिंग करने को कहा है, ताकि कोई भी व्यक्ति टीका लगवाने से नहीं छूटे। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता ने जब से काम करने का मौका दिया है, राज्य में सभी क्षेत्रों में विकास के कार्य किए गए हैं। इसमें शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में विशेष ध्यान दिया गया है।

Share
Previous articleरजी अहमद की नई किताब
Next articleहर घर कहती यही कहानी रही

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here