Home Bihar Government मनमाना भाड़ा वसूल रहे 74 बसों पर जुर्माना व 10 बसें जब्त,...

मनमाना भाड़ा वसूल रहे 74 बसों पर जुर्माना व 10 बसें जब्त, कुल 425 बसों की हुई जांच

415
0

पटना डेस्क। बिहार में कोरोना की महामारी के बीच बस संचालकों द्वारा मनमाना भाड़ा वसूला जा रहा है। इसका खुलासा उस समय हुआ जब परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल के निर्देश पर विभाग की विशेष टीम ने पटना समेत राज्यभर के जिलों में एक साथ बसों की जांच की। इसमें लंबी दूरी से लेकर कम दूरी के बीच चलने वाली सभी तरह की बसें शामिल थी। इस दौरान कुल 425 बसों की जांच की गई। इनमें अधिक भाड़ा वसूली को लेकर 74 बसों पर जुर्माना किया गया और 10 बस जब्त कर लिए गए। सभी जिलों में यह अभियान डीटीओ (जिला परिवहन पदाधिकारी) , एमवीआई (मोटर यान निरीक्षक) और ईएसआई द्वारा चलाया गया। परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि मनमाना भाड़ा वसूलने वाले बस मालिकों पर कार्रवाई की जाएगी।

बस व ऑटो स्टेंड में लोगों से लिया गया फीडबैक

अभियान के क्रम में विभिन्न जिलों में बस स्टैंड के अलावा टेंपो-ऑटो स्टैंड से सार्वजनिक परिवहन के वाहनों के खुलने से पूर्व यात्रियों का फीडबैक लिया गया। शिकायत मिलने पर तत्काल संबंधित बस मालिक या बस चालक पर कार्रवाई की गई। इस दौरान जांच में लगे अफसरों ने बस कंडक्टर व टेंपों चालकों को स्पष्ट निर्देश दिया कि यथोचित किराया ही यात्रियों से लें। मनमाना किराया वसूली की शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी और वाहन को सीज भी किया जाएगा। दरअसल परिवहन विभाग की मंत्री शीला मंडल द्वारा सभी जिला परिवहन पदाधिकारी को सार्वजनिक परिवहन के वाहनों में सफर करने वाले यात्रियों, कंडक्टर तथा चालको द्वारा मास्क न लगाने एवं मनमाना भाड़ा वसूलने वाले पर कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

मनमाना भाड़ा वसूल रहे बसों का परमिट हो सकता है रद्द – परिवहन सचिव

परिवहन सचिव ने बताया कि कई जिलों से बसों में मनमाना भाड़ा वसूली को लेकर शिकायतें मिल रही थी। इस पर कार्रवाई के लिए सभी जिलों में विशेष जांच अभियान चलाने के निर्देश दिए गए हैं। जांच में मनमाना भाड़ा वसूली की शिकायत सही पाए जाने पर संबंधित बस मालिकों या चालकों पर जुर्माना लगाया जा रहा है। दोषी पाए जाने पर बसों की जब्ती के साथ परमिट रद्द करने की कार्रवाई की जा सकती है। साथ ही सभी जिलों के जिलाधिकारी एवं जिला परिवहन पदाधिकारी को सार्वजनिक परिवहन के वाहनों से सफर करने वाले यात्रियों से यथोचित किराया लेना सुनिश्चित कराने के लिए निर्देश दिया गया है।

टेंपों व बसों में सामाजिक दूरी व मास्क की भी जांच

अभियान के दौरान विभिन्न जगहों पर अचानक टेंपों या बस में सामाजिक दूरी और मास्क की भी चेकिंग की गई। साथ ही कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वाले वाहन संचालकों पर कार्रवाई भी की गई। खासकर ई चालान काटा गटा। परिवहन सचिव के मुताबिक नियमों का उल्लंघन करने वाले टेंपो व बस का परिचालन करने वालों पर मोटर वाहन अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा रही है। सार्वजनिक परिवहन के वाहनों में 50 प्रतिशत से अधिक यात्रियों के साथ परिवहन पर रोक लगाई गई है।

Share
Previous articleपटना समेत 4 जिलों के एसपी बदले गए, भोजपुर व औरंगाबाद के एसपी मुख्यालय बुलाए गए
Next articleड्यूटी में मिले बिना वर्दी तो होगी कार्रवाई, डीजीपी का आदेश – मानकों के अनुसार चकाचक रहे जवान-अफसर की वर्दी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here